मंगलवार, 3 जनवरी 2012

सीखना

सीखना 
वाचक रुप मनुष्य सीखता और सीखा गया आचरण मनुष्य छोड़ना नही चाहता, चाहे वो नकारात्मक हो या सकारत्मक, नकारात्मक अवस्था मे  जो भी हो अपने अहंकार के कारण वो जिद्द या हट ज्यादा करता है.