रविवार, 29 जनवरी 2012

meal psycology perception

आहार का प्रत्यशीकरन =  जब हम किसी रेसिपी की बात कहते है तो हमे उसका स्वाद की बात करते है ,हमे वो सभी खाने वाले तथा बनाने वाले याद आते , उनके जहा जहा बनती वो स्थान  याद आते ,उसका आकर प्रकार बनावट इस प्रकार से हम उस आहर से एकीकरण प्रक्रिया से जुड़े होते है और हम खाते खाते नही थकते ,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,इस एकीकरण की प्रक्रिया से  हमारा  जुड़ाव आहार दोषों का ग्रहण करता रहता है .......................................................................................................................जय श्री कृष्ण