गुरुवार, 23 फ़रवरी 2012

MY HEALTH = RAG BUDHAPA [ DIET MOTIVATIO ]

राग बुढ़ापा  = आदमी अपने स्वभाव  के कारण बुढ़ापे में जो अपने  हट तथा बलपूर्वक इन्द्रियों के अज्ञान को ढक  कर इन्द्रियों के परवश स्वादवाले  आहार जो लेते उनको परिवार में भी तानो को  सुनना पड़ता है ,पेट में गेंस होने से रात में नींद भी कमजोर आती, सुबह को आलस को भी भुगतना पड़ता और  फिर लोगो को शिकायत का राग आलापते घूमना की आज कल खाना हजम नही होता , अपने घर का ही भोजन करते ......... रुकिए अब तो सब्र की आदत डालिए सुन्तुलित पोषक आहार लीजिए परिवार में मान बढाइये तथा अच्छी नींद लीजिए