सोमवार, 16 अप्रैल 2012

बच्छो का बिस्तर मे पिसाब करना देखा जाता है जिनका नैदानिक उपचार के लिए भिन्न भिन्न तरीके अपनाये जाते. इन कारणों में आहार का कुपोषण

  बच्चो का बिस्तर में पिसाब करना =  बच्चो का बिस्तर मे पिसाब करना देखा जाता है जिनका नैदानिक उपचार के लिए भिन्न भिन्न तरीके अपनाये जाते,. इन कारणों में आहार का कुपोषण भी पाया जाता है. अक्सर बच्चे को लाड  प्यार के कारण मीठा ज्यादा खिलाया जाता जिस कारण बच्चे का  पाचन तन्त्र कमजोर होकर स्नायु संस्थान कमजोर हो जाता और कमजोरी के कारण भय भी उत्पन्न होता और भय के कारण साथ स्नायु  संस्थान का कमजोर होना भी इस शरीर में  दिमाग से शारीरिक  नियन्त्रण खो देता है जिस से बच्चा डरपोक या दब्बू किस्म का होता और रात्रि में बच्चा बिस्तर पर पिशाब कर लेता है .  उपचार बच्चे को डराए नही,  .साहस उत्पन्न करे, नई समज उत्पन्न करे, रात्रि में दूध जैसे तरल आहार  नही दे ,अखरोट गिरी खिलाये . मीठा खाना कम कर दे ...