रविवार, 3 जून 2012

गर्मी में आहार विहार से लू का बचाव

गर्मी में आहार विहार = गर्मी में राजस्थान बहुत गर्म प्रदेश रहता है. और वर्तमान आधुनिक जीवनशैली के चलते आम आदमी के जीवन में लू के अलावा आज सबसे ज्यादा उच्च रक्तदाब को देखने में आता है जो कभी समझते नही थे, कारण की आहार भी तामसिक आहार को भी ज्यादा मात्राओं में लिया जाने लगा है और तामसिक आहार गैस ज्यादा करता है. पाचन संस्थान को भी प्रभावित भी करता है. साथ ही साथ ज्यादा भिड्वाली जगहों का दुष्प्रभाव, धूप में तेज गति से चलना, प्राकृतिक पसीने को पावडर से रोकना, पानी को समय पर नही पीना, और एक महत्वपूर्ण बात की तनाव का बढ़ता भी उच्च रक्त दाब का कारण भी बनता है .उपाय [ निदान ]  सूती कपड़ों का पहनावे रखे. धर से बाहर निकले से पहले ठंडा पानी अवश्य पिए कच्चे आम  [  कच्चे केरी ] का शरबत सेवन करे, प्याज़  भोजन में शामिल के. पुदीना और इमली की चटनी का सेवन करे ' सिर को ठंडे पानी से भिगोये, हो सके दिन में दो बार स्नान करे. और अपने तनाव को दूर करे, जिससें लू के प्रकोप से बचा जा सकें और सुबह या शाम को भगवान का भजन करे शांति मिलेगी .