शनिवार, 21 जुलाई 2012

मुंह में बार-बार छाले होते है !

 मुंह  में बार-बार छाले  होते है  !                                                                                                                   मेरे मुह में बार बार छाले होते है, [ पड़ जाते है ] मैने इसके लिए एलोपैथी, होमियोपैथी, आयुर्वैदिक बहुत ही दवाईया परन्तु इस बीमारी का जड से मुझे छुटकारा नही मिला आप से मुझे आशा है कृपया निदानात्मक उपचार लिखे .                                                                                                                                                         इस प्रकार की बीमारी का होना आम बात है, जिस किसी को ऐसी बीमारी होती इस की जाँच आवश्यक होती जिसके बहुत से कारण होते है जिसमे निम्न कारणों के साथ निवारण लिखा जा रहा है. कारण - साधारण भाषा में पेट की गर्मी मानी जाती है, वात्, पित दोष का प्रकोप होता है, थाइमिन की कमी के साथ साथ रक्त दोष और रक्त की कमी, रक्त की कमी का कारण कुपोषण से होता है खास करके अगर कुपोषण को ठीक कर लिया जाये तो लगभग 90 %  [ प्रतिशत ] अपने आप ठीक हो जाती है. विटामिन बी काम्प्लेक्स की गोलिया दी जाती या ली जाती परन्तु कई बार हमारी पाचन शक्ति इस को स्वीकार नही करती या उसका प्रभाव तक ठीक होकर वापस छालें पैदा हो जाते. इस के लिए उत्तम तो संतुलित आहार ही उपयुक्त रहता है. रोकथाम = चाय को बंद करे, मसालेदार भोजन रोके, कब्ज कारक भोजन को खाना बंद करे. पूरक आहार के तौर पर आवला सेवन करे, खून की कमी हो तो विटामिन सी  [ c ] वालें आहार के साथ लौह तत्व वाले आहार ले ................. 
पेट में कब्ज नहीं होनें दें, आहार का निर्धारण सभी के लिए यहा [ डाइट चार्ट ] नहीं लिख सकतें फिर भी सतोगुणी रजोगुणी और तामसी के साथ कफ, पित और वायु का भी निरिक्षण करना जरूरी होता हैं.