मंगलवार, 9 जुलाई 2013

इन सभी बीमारियों के दर्द तो समान होते परन्तु कारण ओरं निवारण सभी का अलग अलग होता है

वात विक़ार = वात बहुत से कारणों से होता है .और उन सभी कारणों का अध्ययन करना जरूरी भी होता है .एवं इन को अलग अलग स्थानों में उपस्थित रहने के कारण उन अवस्था को भी अलग अलग नामो से जाना जाता है .कभी कभी बादी का आना भी पुकारा जाता ,छोटे जोड़ों का दर्द ,बड़े जोड़ों का दर्द ,कमर दर्द ,एडियो का दर्द या घुटनों का दर्द घर परिवार में किसी न किसी सदस्यों को सताता रहता है . इन सभी बीमारियों के दर्द तो समान होते परन्तु कारण ओरं निवारण सभी का अलग अलग होता है .और प्रायोजित आधुनिक दर्द निवारक गोलियां दर्दी स्वंय या डाक्टर की प्रेरणा से खायेगा एवं अपनी बीमारी को निरंतर बढावा देता रहेगा .साथ ही साथ इन दर्द निवारक दवाई के साइड इफेक्टो को साथ लिए ऊर्जा हीनता की शिकायत करता फिरेगा .ऐसे लोगो को नही मानने की भी बीमारी लगी होती और वात विक़ार वाले भोजन को बंद करने की बजाय वात बढाने वाले भोजन ज्यादा खायेगा और कहेगा पहरेजी खाना खा रहा हू .पर्याप्त [ पर्याप्त ] संतुलित भोजन करे तो इस बीमारी को नियंत्रण में किया जा सकता है .और स्वस्थ्य जीवन जिया जा सकता है .