गुरुवार, 21 अगस्त 2014

घृतकुमारी

घृतकुमारी , यह प्राकृतिक वनस्पतीय पौधे हैं, प्राकृतिक चिकित्सा, आयुर्वैदिक चिकित्सा, होमियोपैथी चिकित्सा में काम लिया जाता हैं, पाचनक्रिया को मजबूत करता हैं. जिस से जीवनी शक्ति ही शरीर का रक्तविकार में आराम मिलता हैं. शरीर का हिस्सा आग से जले स्थान पर इस के गुदे [ रस ] का लेप किया जाता हैं, स्वस्थ बालों के लिए शैम्पू के रूप में काम लिया जाता, अपचन, पेट के विक़ार, पेट के रोग तिल्ली का बढ़ना, यकृत का बढना में कच्चा खाने से ठीक होता हैं, वाजीकारक [ वाजीकर ], वीर्य वर्धक, आँखों का हितकारी, रक्त विष,  रक्त विक़ार ,शरीर शोथ, चक्कर आना, दुर्बलता, और शरीर शोथ से जोड़ों का दर्द में सफलतापूर्वक उपचार किया जाता है, हाथ-पाँव में जलन और  झुनझुनाहट होना, कब्ज को मिटाता हैं जिस से अर्श की मुक्ति होती हैं.