सोमवार, 1 सितंबर 2014

पित्ताश्मरी [ पित्त की थेली में पथरी ] से कैसे मुक्तिबोध

 हर्बल चिकित्सा से पिताश्मरी का निदानात्मक चिकित्सा संभव हैं. आप को हम बता रहे की आदमी की लापरवाही किस प्रकार स्वयं के लिए भ्रम उत्पन्न करती हैं, निम्न प्रदर्शित सोनोग्राफी से आप पता लगा सकते की. ये राजेन्द्र नाम के व्यक्ति को पित्ताश्मरी हुईं जिसकी रिपोर्ट 30-06 - 2004 इस रिपोर्ट में लिखा हुआ की दो प्रकार की पथरी हुईं जो 9.9 mm, 9.5 mm मेरे से हर्बल उपचार के बाद उसको आराम होने लगा तो आगे परामर्श लेना में रूचि कर में ढील दे दी गई, क्योंकि उस को दर्द से आराम हो गया जो असहनीय दर्द होता था वो अब नहीं होता, गैस बनना, पेट दर्द से मुक्ति हो गई, किंतु मेरे द्वारा कहने पर फिर दोबारा सोनोग्राफी कराई जो भी काफी समय के बाद में, तो सोनाग्राफी रिपोर्ट में 13-08-2014  में पित्ताश्मरी 6.7 mm की आई,  फिर तीसरी बार सोनाग्राफी की रिपोर्ट संलग्न हैं जिसका आप पता लगा सकते की पथरी अब कितनी बड़ी हैं. यानिकी  हर्बल चिकित्सा से पित्ताश्मरी [ पित्त की थेली में पथरी ] आराम से निकल सकती अगर चिकित्सक के निर्देश में उपयुक्त परामर्श की पालना करे तो.