बुधवार, 26 नवंबर 2014

पथरी से हानियाँ

पथरी के बारे में आप को अब चिंता करने की आवश्यकता नहीं हमारे पास हर्बल चिकित्सा से बिना आपरेशन से नैदानिक चिकित्सा उपलब्ध है, गुर्दों की पथरी एवं पित्ताश्मरी निरंतर छोटे छोटे दानो के रूप में पैदा होती, इस कारण से इसकी पाचन शक्ति कमजोर हुई जिससे पेट दर्द निरंतर बना रहना जिससे घबराहट, जी मिचलाना के साथ पेट में गैस बनना की शिकायत रहती हैं. जिससे शारीरिक बीमारी के कारण मानसिक परेशानी होती हैं. एक युवा को परीक्षा के दिनों में दर्द होने से परीक्षा में वंचित उपलब्धि होने से उचित अवसर का नुकसान होता हैं. यात्रा के समय कभी भी दर्द होने की संभावनाओं का डर मन में हमेशा लगा रहता हैं.
बार बार पथरी बनने से गुर्दे खराब हो जाते, बार बार ऑपरेशन करने से भी गुर्दे खराब हो जाते हैं.