सोमवार, 15 अक्तूबर 2012

ह्रदयघात और मोटापा के आहार

नाश्ता यानि अल्पाहार = आज कल भाग दौड़ की ज़िंदगी में समय के अभाव में सड़कों पर बने होटलों में नाश्ता करने  वालो की भीड़ दिखाई दे रही है .इन होटलों में भोजन विशेषज्ञ ,शेफ ,आदि दावा करते है कि हमारे यह गुणवता किलो कैलोरीयुक्त आप को नाश्ता या जल पान मिलेगा परन्तु क्या आप ने देखा उस नाश्ता  में  कार्बोहाइड्रेट, वसा और सोड़ियम की मात्रा की भरपूरता होते है जिससे आप का मोटापा बढ़ता ही जाता है जब की आपको जों किलोकैलोरी मात्रा की आवश्यकता है वो कही ज्यादा तो नही हो रही इस का ध्यान पूर्वक मनन करना आप की जवाबदारी बनती है .जिसके पीछे कारण यह नजर आता है की आप के पास समय कम और स्वादिष्ट के चक्कर में जों भोजन करते वो आप को तृप्त नही करता , अगर आप भोजन से तृप्त होंगे तो अलग से भूख भी नही लगेगी कोशिश कीजिये अपने धर का बना खाना ही खाए, तरकारी ,फलो का सेवन करे तो मोटापा और हृदय रोगों से बच सकते है ..                                                                                                                                                                                
एक टिप्पणी भेजें