रविवार, 14 जुलाई 2013

हमारी जीवनी शक्ति

हमारी जीवनी शक्ति =  हमारी जीवनी-शक्ति को अपनी भाषा में प्राण कहते हैं ,प्राय भगवान के तस्वीरों के चेहरे के आस-पास जो आभा मंडल दिखाया जाता हैं वह संभवत उनकी शक्तिशाली जीवनी-शक्ति का प्रतीक हो सकता हैं 
          हम सबका मूल जीवनी-शक्ति में निहित हैं हमारे हाथ पाव का हिलना , वृक्ष का उगना,आकाश में बिजली का चमकना  इस क्रिया के पीछे स्थित अदृश्य शक्ति को ही जीवनी-शक्ति कहते हैं .
         शरीर की विभिन्न क्रियाओं रक्त-परिभ्रमण भोजन का पाचन ,पसीना, मल-मूत्र का त्याग आदि सभी प्रकार से बालक में से वृद्ध , वृद्धि और क्षय के क्रम में बीज से अंकुरण, फुल और फल के विकास-विनाश के क्रम जो रूपांतर हमें दिखाई देता उस के पीछे जीवनी-शक्ति का होना पाया जाता हैं .